GST : एक देश, एक टैक्स और एक बाजार

लखनऊ. पूरे देश में एक जुलाई से जीएसटी लागू हो जाएगा। जीएसटी यानी गुड्स एंड टैक्स सर्विस। जम्मू-कश्मीर को छोड़कर देश के सभी राज्यों में एक जुलाई से एक देश, एक टैक्स और एक बाजार का फॉर्मूला लागू हो जाएगा। आजादी के बाद देश की टैक्स व्यवस्था में अब तक के सबसे बड़े इस बदलाव को लागू करने की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं।

पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर और शराब पर जीएसटी का कोई फर्क नहीं पड़ेगा. मतलब पेट्रोल, डीजल और एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में राज्यों के हिसाब से जो अंतर दिखता है वो अंतर बना रहेगा। राज्य अपनी मर्जी से इन पर टैक्स वसूलते रहेंगे. राज्यों की मांग पर केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर, शराब को जीएसटी से बाहर रखा है। मनोरंजन कर के जीएसटी में समाहित होने से ज्यादातर राज्यों में मूवी टिकट और नाटक देखना सस्ता हो जाएगा। साथ ही रेस्तरां में खाने के लिए भी कम कीमत चुकानी होगी।

व्यापारियों का एक वर्ग एकल टैक्स व्यवस्था का विरोध कर रहा है, वहीं सरकार इसे क्रांतिकारी बता रही है। जीएसटी का मतलब ये कतई नहीं है कि हर चीज पर टैक्स का एक रेट होगा। जीएसटी काउंसिल ने अलग-अलग सामानों के लिए अलग अलग टैक्स रेट तय किया है। एक जुलाई से कुछ सामान सस्ते महंगे और कुछ महंगे हो जाएंगे। जीएसटी को लेकर लोगों के मन में तमाम जिज्ञासाएं हैं, कई प्रश्न हैं। मसलन, लोगों के दैनिक उपभोग की चीजों पर क्या असर पड़ेगा। क्या सस्ता हो जाएगा और क्या महंगा? तो आइए जानते हैं कि नई कर व्यवस्था लागू होने से क्या सस्ता और क्या महंगा हो जाएगा।

GST

ये होगा सस्ता (नहीं लगेगा टैक्स)
– ताज़ा दूध
– अनाज
– ताज़ा फल
– नमक
– चावल, पापड़, रोटी
– जानवरों का चारा
– कंडोम
– गर्भनिरोधक दवाएं
– किताबें
– जलावन की लकड़ी
– चूड़ियां (ग़ैर कीमती)

इन पर लगेगा 5 फीसदी टैक्स
– चाय, कॉफ़ी
– खाने का तेल
– ब्रांडेड अनाज
– सोयाबीन, सूरजमुखी के बीज
– ब्रांडेड पनीर
– कोयला (400 रुपये प्रति टन लेवी के साथ)
– केरोसीन
– घरेलू उपभोग के लिए एलपीजी
– ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्ट
– ज्योमेट्री बॉक्स
– कृत्रिम किडनी
– हैंड पंप
– लोहा, स्टील, लोहे की मिश्र धातुएं
– तांबे के बर्तन
– झाड़ू

इन पर लगेगा 12 फ़ीसदी टैक्स
– ड्राई फ्रूट्स
– घी, मक्खन
– नमकीन
– मांस-मछली
– दूध से बने ड्रिंक्स
– फ़्रोज़ेन मीट
– बायो गैस
– मोमबत्ती
– एनेस्थेटिक्स
– अगरबत्ती
– दंत मंजन पाउडर
– चश्मे के लेंस
– बच्चों की ड्रॉइंग बुक
– कैलेंडर्स
– एलपीजी स्टोव
– नट, बोल्ट, पेंच
– ट्रैक्टर
– साइकिल
– एलईडी लाइट
– खेल का सामान
– आर्ट वर्क

इन पर लगेगा 18 फ़ीसदी टैक्स
– रिफाइंड शुगर
– कंडेंस्ड मिल्क
– प्रिजर्व्ड सब्ज़ियां
– बालों का तेल
– साबुन
– हेलमेट
– नोटबुक
– जैम, जेली
– सॉस, सूप, आइसक्रीम, इंस्टैंट फूड मिक्सेस
– मिनरल वॉटर
– पेट्रोलियम जेली, पेट्रोलियम कोक
– टॉयलेट पेपर

इन पर लगेगा 28 फ़ीसदी टैक्स
– मोटर कार
– मोटर साइकिल
– चॉकलेट, कोकोआ बटर, फैट्स, ऑयल
– पान मसाला
– फ़्रिज़
– परफ़्यूम, डियोड्रेंट
– मेकअप का सामान
– वॉल पुट्टी
– दीवार के पेंट
– टूथपेस्ट
– शेविंग क्रीम
– आफ़्टर शेव
– लिक्विड सोप
– प्लास्टिक प्रोडक्ट
– रबर टायर
– चमड़े के बैग
– मार्बल, ग्रेनाइट, प्लास्टर, माइका
– टेम्पर्ड ग्लास
– रेज़र
– डिश वॉशिंग मशीन
– मैनिक्योर, पैडिक्योर सेट
– पियानो
– रिवॉल्वर

Pin It