प्रधानमंत्री आवास योजना में ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन, यह है पूरी प्रक्रिया

लखनऊ. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उत्तर प्रदेश के 2 लाख शहरी गरीबों को घर मिलेगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एलडीए का मॉडल रिजेक्ट करते हुए सूडा के मॉडल को ओके कर कर दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार इस साल 2 लाख लोगों को मकान बनाकर देगी, जो मकान नहीं चाहते उनकी जमीन पर बनाने के लिए उन्हें पैसा देंगे। हर साल हम मकानों की संख्या को बढ़ाएंगे। 2022 तक सबको आवास देंगे।

कैसा होगा मकान
340 स्क्वॉयर फीट वाले इस मकान में 2 कमरे, 1 टॉयलेट अटैच बाथरूम, 1 किचेन होगा। सूडा मॉडल पर बनने वाले इन मकानों की कीमत 3 लाख 40 हजार रुपए होगी। इसमें सब्सिडी के तौर पर 1 लाख केंद्र सरकार देगी और 1 लाख राज्य सरकार देगी। बाकी बची धनराशि को लाभार्थियों को देना होगा।

कौन होगा पात्र?
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ईडब्ल्यूएस में मल्टी लेवल बिल्डिंग में घर पाने वाले व्यक्तियों की सालाना पारिवारिक आय 3 लाख से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। 3 लाख सालाना से अधिक इनकम वाले व्यक्ति इस योजना के पात्र नहीं होंगे। वहीं, एलआईजी (लो इनकम ग्रुप) का मकान लेने के इच्छुक व्यक्तियों की सालाना आय 3 लाख से 6 लाख के बीच होनी चाहिए।

चार तरीकों से मिलेगा आवास
प्रधानमंत्री आवास को 4 तरीकों से चलाया जा रहा है। इनमें स्लम डेवलपमेंट, अफोर्डेबल हाऊसिंग, लाभार्थी योजना और क्रेडिट लिंक सब्सिडी शामिल हैं, जो 3 चरणों में लागू होगा।

3 चरणों में लागू होगी प्रधानमंत्री आवास योजना
– योजना का पहला चरण अप्रैल 2016 से मार्च 2017 तक चलाया जाएगा। इसमें 100 शहरों के 33 लाख लाभार्थियों को मकान दिए जाएंगे।
– दूसरा चरण के तहत 33 लाख 50 हजार लाभार्थियों को मकान दिए जाएंगे। यह योजना 200 शहरों में चलेगी। इसका समय अप्रैल 2017 से मार्च 2018 तक रहेगा।
– अप्रैल 2019 से मार्च 2020 तक योजना तीसरा चरण चलेगा। इसमें 200 शहरों को कवर किया जाएगा। इस योजना में 33 लाख 50 हजार घर बनाकर दिए जाएंगे।

 

Pradhan Mantri Awas Yojana

Pradhan Mantri Awas Yojana

 

और खास बातें
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर उस परिवार की किसी महिला के नाम ही होगा। किसी पुरुष के नाम पर मकान का कब्जा या रजिस्ट्री नहीं कराई जा सकेगी। इसके अलावा इस योजना का लाभ उन व्यक्तियों को ही मिलेगा, जिनके पास किसी अन्य योजना में मकान नहीं है। अगर किसी के पास किसी योजना में मकान है तो उनको इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। फिर भी यदि ऐसे व्यक्तियों ने आवेदन किए जिनके पास किसी योजना में घर है तो वो इस योजना के लिए अपात्र माने जाएंगे और उनका आवेदन खुद ही निरस्त हो जाएगा।

कैसे करें रजिस्ट्रेशन
प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत संबंधित शहरी स्थानीय निकायों द्वारा नि:शुल्क ऑफलाइन एवं ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। पात्र लाभार्थियों द्वारा स्वरयं भी मंत्रालय की वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन पंजीकरण किया जा सकता है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करान के लिए वेबसाइट (pmaymis.gov.in) पर जाएं। वहां सावधानी पूर्वक रजिस्ट्रेश फॉर्म भरें। इसके बाद सारे पेपर्स को स्कैन कराकर अपलोड करें। रजिस्ट्रेश नंबर अपने पास सुरक्षित रख लें। इसके अलावा अगर आपको ऑफलाइन आवेदन करना है तो नजदीकी सूडा अथवा डिस्ट्रिक्ट अरबन डेवलपमेंट एजेंसी (डूडा) कार्यालय में जाकर कर सकते हैं।

ऐसे घोषित होगी पात्रता सूची
आवेदनों की पात्रता जांच करने के बाद ही सेलेक्टेड लाभार्थियों की ऑनलाइन व ऑफलाइन सूची घोषित की जाएगी। यह लिस्ट विज्ञापन और अन्य प्रकाशनों के माध्यम से प्रकाशित की जाएगी, ताकि किसी प्रकार की किसी व्यक्ति को कोई आपत्ति‍ हो तो वो इसकी शिकायत सूडा केंद्र में कर सकता है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद इसकी अंतिम सूची बनाकर ऑनलाइन जारी कर दी जाएगी। फाइनल सूची की डीपीआर बनाकर केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। केंद्र सरकार की सहमति के बाद ही इस पर काम शुरू किया जाएगा।

Pin It