उत्तराखंड में पहली बार महिला IPS ने किया परेड का नेतृत्व

उत्तराखंड की स्थापना के 17 साल पूरे होने पर प्रदेश भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. देहरादून पुलिस लाइन में आयोजित मुख्य समारोह में राज्यपाल केके पॉल ने परेड की सलामी ली. इस मौके पर राज्यपाल ने आंदोलनकारी शहीदों को नमन करने के साथ ही सभी प्रदेशवासियों को बधाई दी. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में कानून व्यवस्था प्रसंशनीय है. यदि कानून व्यवस्था बेहतर होगी तो राज्य में पूंजी निवेश भी बेहतर होगा. राज्यपाल ने उत्तराखण्ड पुलिस के सराहनीय कार्य करने वाले अधिकारियों को सम्मानित भी किया. चार को राष्ट्रपति पुलिस पदक और 20 को पुलिस पदक से सम्मानित किया गया.

उन्होंने कहा कि राज्य की स्थापना दिवस पर ईमानदारी से मूल्यांकन किया जाना चाहिए कि अपेक्षाओं पर हम कितना खरा उतरे. प्राकृतिक आपदाओं को झेलने के बावजूद उत्तराखंड तरक्की के मार्ग पर अग्रसर है. इस मौके पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ राज्य के विकास के लिए संकल्पबद्ध है. उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलन के शहीदों के बलिदान को बेकार जाने नहीं दिया जाएगा. मुख्यमंत्री ने किडनी रैकेट खुलासे पर पुलिस टीम  को बधाई दी और कहा कि पुलिस की पारदर्शिता और गतिशीलता में तेज़ी आएगी.
देहरादून पुलिस लाइन में हुई आज की परेड ख़ास मायने में ऐतिहासिक रही. इस रैतिक (ceremonial)   परेड को नेतृत्व पहली बार किसी महिला अधिकारी ने किया. देहरादून की एसएसपी निवेदिता कुकरेती को यह सम्मान हासिल हुआ है.

इसके साथ ही परेड में पहली बार ही महिला बैंड का भी प्रदर्शन किया गया.

Pin It