पाकिस्तान और चीन का सामना करने में पूरी तरह सक्षम है भारतीय सेना

भारतीय सेना चीन और पाकिस्तान की सीमा पर पूरी तरह मुस्तैद है. हम जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण तरीके से काम करने के साथ ही हालात के मुताबिक कार्रवाई कर रहे हैं. हमारे जांबाज सैनिक हर तरह के हालात का सामना करने के लिए तैयार हैं और देश की सेना के लिए सरकार की तरफ से हर तरह की कार्रवाई के विकल्प खुले रखे गए हैं. यह कहना है थलसेना अध्यक्ष बिपिन रावत का. रावत देहरादून में एक स्कूल के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं.

शनिवार को देहरादून पहुंचे बिपिन रावत ने अपने बचपन के स्कूल के कार्यक्रम में इस बात पर खुशी जताई कि सेना को निर्मला सीतारमण के रूप में स्वतंत्र रक्षा मंत्री मिली है. उन्होंने कहा कि सरकार और सेना जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य करने के लिए प्रयास कर रही है और जरूरत के मुताबित कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है. जनरल ने देश की सीमाओं को पूरी तरह सुरक्षित बताते हुए जानकारी दी कि सेना हर माहौल में दुश्मन का मुकाबला करने में सक्षम है. सेना को सरकार से पूरी आजादी और पूरा समर्थन मिल रहा है.

जनरल बिपिन रावत ने कार्यक्रम में बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि शक्ति और अनुशासन सफलता के साथ-साथ दुश्मन से लड़ने का सबसे बड़ा हथियार है. जो बचपन में उन्हें उनके अध्यापक ने दिया था. देश की सेना भी अनुशासित और चाक चौबंद है. इस मुल्क की सरहद को कोई छू नही सकता.

Pin It