गढ़वाल विवि करेगा गंगा सरंक्षण का प्रचार

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की उपस्थिति में सोमवार को सचिवालय में हेमवती नन्दन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय और उत्तराखण्ड में संचालित नमामि गंगे परियोजना के मध्य उत्तराखण्ड राज्य में गंगा संरक्षण हेतु प्रचार-प्रसार और जन जागरूकता के लिए एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए.

एमओयू पर अपर सचिव डॉक्टर राघव लंगर और रजिस्ट्रार हेमवती नन्दन बहुगुणा विश्वविद्यालय ने हस्ताक्षर किए. इस एमओयू के माध्यम से विश्वविद्यालय गंगा संरक्षण कार्यक्रम हेतु एक सक्रिय क्षेत्रीय सहयोगी की भूमिका निभाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगा को निर्मल एवं अविरल बनाए रखने के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाना होगा जिसमें राज्य सरकार के साथ ही शैक्षिक एवं सामाजिक संस्थाओं को भी आगे आना होगा तथा जन सहयोग भी ज़रूरी है.

अपर सचिव डॉक्टर राघव लंगर ने बताया कि नमामि गंगे के अन्तर्गत जन-जागरूकता के लिए 13 सितम्बर, 2017 को श्रीनगर गढ़वाल के चैरास परिसर में एक कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा. नुक्कड़ नाटक, गंगा रथ एवं जागरूकता रैलियों के माध्यम से गंगा को स्वच्छ, निर्मल एवं अविरल बनाने के लिए अभियान चलाया जाएगा.

Pin It