ऐसे करें भगवान बृहस्पति को खुश, बन जाएंगे बिगड़े काम

लखनऊ. बृहस्पति देव को सभी देवों का गुरू माना जाता है। देवों के साथ-साथ इन्हें सभी जीवों का भी गुरू माना जाता है। ऐसा माना जाता है यदि हमारा गुरू हमसे रुष्ट हो जाए तो सभी बनते काम बिगड़ जाते हैं और यदि गुरू प्रसन्न हो तो बिगड़ते काम भी बन जाते हैं। श्रद्धालुओं का मानना है कि अगर सच्चे मन से बृहस्पति भगवान का व्रत व पूजन किया जाए तो निश्चित ही सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। आइए जानते हैं कि पंडित धीरज शास्त्री क्या बताते हैं कि बृहस्पतिवार के दिन किस विधि से भगवान को खुश करना चाहिए और कैसे वह हम पर खुश होंगे।

 

brihaspati

ऐसे करें पूजन
– सर्वप्रथम प्रातःकाल उठकर भगवान का ध्यान करें, नित्य कर्म से निवृत्त होकर स्नान करें।
– बृहस्पतिवार को पीले वस्त्र धारण करने चाहिए।
– चने की दाल, गुड़, मुनक्का, फल आदि से बृहस्पति देव का पूजन करें।
– इसके बाद दीपक जलाकर बृहस्पति की कथा कहें। कथा होते समय न उठना चाहिए और न ही बोलना चाहिए।
– कथा के बाद आरती करके क्षमा याचना करनी चाहिए।
– बृहस्पतिवार को एक ही समय भोजन करना चाहिए, भोजन पीला होना चाहिए।
– एक लोटे में जल, गुड़, चने की दाल, हल्दी डालकर केले के वृक्ष पर चढ़ाएं।

बृहस्पतिवार को क्या करें
– आटे की लोई पर चने की दाल, गुड़ रखकर गाय को खिलाएं।
– केले के वृक्ष की पूजा करके जल चढ़ाएं।
– घर में सभी सदस्यों में प्रसाद वितरित करें।

क्या न करें
– बृहस्पतिवार के दिन सिर न धुलें।
– बृहस्पतिवार को केले के फल का सेवन न करें।
– घर में माँस-मदिरे का सेवन न करें।
– इस दिन कपड़े धोबी के पास धुलने के लिए नहीं डालने चाहिए।

Pin It