जीरो से नीचे तापमान में देश के सैनिकों ने ऐसे मनाई दिवाली

देश के जवान 24 घंटे सरहदों पर तैनात हमारी सुरक्षा में लगे हुए हैं। देश जब दिवाली की खुशियां मना रहा है, तो लद्दाख के मुश्किल हालात में भी सैनिक जमे हुए हैं। ये दिन रात हमारी सुरक्षा में मुस्तैद हैं। चारों ओर सफेद बर्फ से घिर हुए जवानों का यहां पर जीवन कितना मुश्किल है, इसका अंदाजा लगाना एक आम आदमी के लिए मुश्किल है। जीरो से नीचे के तापमान में भी हमारे सैनिकों का हौसला आसमान पर रहता है। फिर चाहे वह कोई भी मौका या त्योहार क्यों न हो।
इस दीपावली पर भी लद्दाख के खारदुंग ला में इंडो तिब्बतन बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों ने दीये जलाकर दीपावली मनाई।

Indo-Tibetan Border Police (ITBP) personnel celebrate #Diwali at Khardung La, Ladakh. pic.twitter.com/4bF3eJeucS
— ANI (@ANI) November 6, 2018
दिवाली ( Diwali ) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) आज सुबह उत्तराखंड की राजधानी देहरादून पहुंच गए हैं। वह यहां बुधवार को भगवान केदारनाथ के मंदिर में दीवाली उत्सव मनाएंगे। पीएम मोदी के तय कार्यक्रम के अनुसार वह करीब पौने दस बजे केदारनाथ धाम पहुंचेंगे। वहां पूजा अर्चना के बाद वह केदारपुरी में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का मुआयना करेंगे। भगवान की पूजा अर्चना के बाद भारत-चीन बॉर्डर पर जाएंगे। यहां वे सीमा पर तैनात जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वह सेना के जवानों के साथ बुधवार को दिवाली मनाएंगे और अपने अनुभवों की तस्वीरें साझा करेंगे। इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की ओर से दिवाली की शुभकामनाओं के जवाब में मोदी ने कहा, ‘हर साल मैं अपने सीमावर्ती इलाके में जाता हूं और अपने जवानों को हैरान करता हूं। इस साल भी बहादुर जवानों के साथ मनाउंगा। उनके साथ वक्त गुजारना खास होता है।’

प्रधानमंत्री पिछली बार केदारनाथ अक्टूबर 2017 में गए थे। उनकी यात्रा मंदिर के कपाट सर्दियों के लिए बंद होने से कुछ वक्त पहले हुई थी। वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री मोदी ने सियाचिन में जवानों के साथ दिवाली मनाई थी।
2015 में दिवाली पर वह पंजाब सीमा पर गए थे। उनकी यह यात्रा संयोगवश 1965 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुई जंग के 50 साल होने पर हुई थी। इसके अगले साल प्रधानमंत्री हिमाचल प्रदेश गए थे जहां उन्होंने एक चौकी पर भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस के कर्मियों के साथ वक्त बिताया था। मोदी ने पिछले साल प्रधानमंत्री के तौर पर अपनी चौथी दिवाली जम्मू कश्मीर के गुरेज में सैनिकों के साथ मनाई थी।
नियंत्रण रेखा पर भारतीय, पाकिस्तानी सेना ने मिठाइयों का अदान-प्रदान किया
भारतीय और पाकिस्तानी सेना ने मंगलवार को पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा(एलओसी) के पास आपस में मिठाइयों का आदान-प्रदान किया। रक्षा सूत्रों ने कहा कि जवानों ने मेंढर और पुंछ सेक्टरों में नियंत्रण रेखा पर स्थित दो पारगमन चौकियों पर मिठाइयों का आदान-प्रदान किया।
एक सूत्र ने कहा, “दिवाली की पूर्व संध्या पर मंगलवार को दो पारगमन चौकियों पर दोनों सेनाओं ने मिठाइयों और खुशियों का अदान-प्रदान किया।” परंपरा के अनुसार, सेनाएं दोनों देशों में होने वाले राष्ट्रीय और धार्मिक उत्सव के अवसर पर एक-दूसरे के साथ मिठाइयों का आदान-प्रदान करती हैं।

Pin It