आपका ध्यान किधर है असली समाजवाद इधर है

SP-spokesperson-Rajendra-Chaudhary(प्रेस विज्ञप्ति) ।। समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्री राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में वर्षो बाद विकास रथ के पहिये घूमने शुरू हुए हैं। समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने विकास का नया एजेण्डा बनाकर जब तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं को अमली जामा पहनाना शुरू किया तो चुनाव में जनता द्वारा तिरस्कृत विपक्षी दल जनता को गुमराह करने की नाकाम कोशिश में लग गए हैं। भाजपा, कांग्रेस और बसपा की तिकड़ी रालोद जैसे दलों के साथ मिलकर गन्ना किसानों को उकसाने में लगी लेकिन मुख्यमंत्री जी के राजनीतिक कौशल से उनहें मुंह की खानी पड़ी है। चीनी मिले चालू हो रही है। किसानों का तमाम गन्ना खरीदा जायेगा।

राज्य सरकार ने हमेशा किसानों के हितों को अपनी प्राथमिकताओं के केन्द्र में रखा है। खुद किसान परिवार से संबंधित होने के नाते नेताजी और मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव गॉव गरीब और खेती-किसान की सभी समस्याओं से वाकिफ हैं। किसानों के लिए चौधरी चरण सिंह जी और समाजवादी पार्टी सरकार ने ही सबसे ज्यादा बजट दिया है। इस वर्ष पेराई सत्र में कुछ चीनी मिल मालिकों ने जब हठधर्मी दिखाई तो सरकार ने सख्ती की और उसका उचित परिणाम निकला। सरकार ने किसानों को कहीं नुकसान नहीं होने दिया है।

विपक्षी दलों की मंशा राज्य सरकार के कामों में अडंगेबाजी की है। किसानों के लिए ये घड़ियाली ऑसू बहाते हैं। यदि उन्हें गन्ना किसानों की थोड़ी भी चिंता होती तो वे चीनी मिल लाबी के पक्ष में खड़े नहीं होते। उनकी गन्ना किसानों को भड़काने की कार्यवाही राजनीतिक साजिश है। राष्ट्रीय लोकदल के नेता दिल्ली में केन्द्रसरकार में मंत्री हैं। उन्होंने कभी किसानों की बात नहीं की। प्रदेश के विकास में रूचि नहीं ली। उल्टे इस दल ने अपने राजनीतिक स्वार्थ साधन के लिए किसानों को गुमराह करने की कोशिश की है। इनके प्रदर्शनों में यातायात की परेशानियों से जनता बहुत क्षुब्ध हुई है। जाम लगने से मरीज इलाज के लिए अस्पताल नहीं जा पाए, बच्चे स्कूल से छुट्टी के बाद घर जाने को बिलबिलाते रहे और कुछ लोग तो अपने मृत संबंधी का शव भी अंत्येष्टि स्थल तक नहीं ले जा सके। ऐसा दुर्व्यवहार करने वाले जनता के हितैषी कैसे हो सकते हैं ?

(यह चालिसा से कम नहीं है कृप्या ध्यान से पढ़ें)

 

Pin It